Blog

सहयोग पर्व वार्षिक स्नेह सम्मेलन क्षत्रिय पवार समाज,भोपाल

।। सहयोग पर्व २०२० ।।

आयोजक? क्षत्रिय पवार समाज, भोपाल

अवसर “सहयोग पर्व” वार्षिक स्नेह सम्मेलन भोपाल

कब? रविवार-०५ जनवरी २०२०

समय? – १० बजे सुबह से

कहाँ?
क्षत्रिय पवार समाज, भोपाल
सागोनी कला, रायसेन रोड़, भोपाल।

मेहमान? आप सभी सम्मानीय सदस्य/सपरिवार

आयोजन क्यों? व्यवस्तम जिंदगी में से, हम आप कुछ समय मिलें और कुछ पल गुजारें।

क्यों आये? पर्व की गरिमा आपसे – हमारी आने वाली पीढ़ियाॅ अपनी संस्कृति/संस्कार एवं रिवाज ना भूलें।

क्या होगा? अमृत महोत्सव,सेवानिवृत्ति,गौरवशाली सैनिक,प्रतिभाशाली छात्र-छात्रा सम्मान, अदभुत आस्था उत्सव, खन मिट्टी कार्यक्रम……..

और क्या? आप सभी के साथ चाय नाश्ता और दोपहर बाद  भोजन का आनंद👌

आपके समय पर पहुँचने के इंतजार में

क्षत्रिय पवार समाज, भोपाल

सहयोग पर्व bhopal

बैतूल जिले के पंवारों का इतिहास

बैतूल जिले के पंवारों का इतिहास

बैतूल जिले में भाट के मतानुसार पंवार समाज के पूर्वज लगभग विक्रय संवत 1141 में धारा नगरी धार से बैतूल आए थे। जिले में लगभग पंवारों के 200 गांव है। पंवारों की संख्या लाखों में है। बैतूल जिले के पंवार अग्निवंशी है, इनका गोत्र वशिष्ठ है, प्रशाखा प्रमर या प्रमार है। ये पूर्ण रूप से परमार (पंवार) राजपूत क्षत्रिय है। वेद में इन जातियों को राजन्य और मनोस्मृति में बाहुज, क्षत्रिय, राजपुत्र तथा राजपूत और ठाकुरों के नाम से संबोधित किया है। सभी लोग अपने भाट से अपने वास्तविक इतिहास की जानकारी अवश्य लें ताकि आने वाली पीढ़ी को भविष्य में यह पता रहे कि वे कौन से पंवार है उनका गोत्र क्या है? हमारे वंश के महापुरूष कौन है। जब मालवा धार से पंवार मुसलमानों से युद्ध करते हुए नर्मदा तट तक होशंगाबाद पहुंचे वहां उस समय कि परिस्थितियों के कारण सभी लोगों ने अपने जनेऊ उतारकार नर्मदा में डाल दिए थे। भाट लोगों के अनुसार ये सभी परमार शाकाहारी थे, मांस मदिरे का सेवन नहीं करते थे।

क्षत्रिय पवार समाज के सभी विवाह योग्य युवक युवतियों के लिए महत्वपूर्ण जानकारी :Register Here

वेदिक सोलह संस्कारों को अपनाते थे किंतु समय और विषम परिस्थितियों के कारण सेना के इस समूह की टुकडिय़ां क्रमश: बैतूल, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, मंडला, जबलपुर, रायपुर, बिलासपुर, राजनांदगांव, भिलाई, दुर्ग तथा महाराष्ट्र के नागपुर, भंडारा गोंदिया, तुमसर, वर्धा, यवतमाल, अमरावती, बुलढाना आदि जिलों में जाकर बस गए। बैतूल और छिंदवाड़ा के पंवारों को उस समय यहां रहने वाली जातियों के लोगों ने अपनी बोली से भुईहर कहा जो अपभ्रंस होकर भोयर कहलाये। उस समय की भोगौलिक परिस्थिति तथा आर्थिक मजबूरियों के कारण ये समस्त पंवार अपने परिवार का पालन पोषण करने के चक्कर में अपने मूल रीति रिवाज और मूल संस्कार भूलते चले गए। सभी ओर क्षेत्रीय भाषा का प्रभाव बढ़ गया इसलिए इन सभी क्षेत्रों में वहां की स्थानीय भाषा का अंश पंवारों की भाषा में देखने आता है किंतु आज भी पंवार समाज की मातृभाषा याने बोली में मालवी भाषा और राजस्थानी भाषा के अधिकांश शब्द मिलते है। सैकड़ों वर्षो के अंतराल के कारण लोगों ने जो लोकल टाइटल (पहचान) बना ली थी वो कालांतर में गोत्र के रूप में स्थापित हो गई। आज प्रचलित सरनेम को ही लोग अपना गोत्र मानते है जबकि गोत्र का अभिप्राय उत्पत्ति से है और सभी वर्ण के लोगों की उपत्ति किसी न किसी ऋषि के माध्यम से ही हुई है। हमें गर्व है कि हमारी उत्पत्ति अग्निकुंड से हुई है। और हमारे उत्पत्ति कर्ता ऋषियों में श्रेष्ठ महर्षि वशिष्ठ है, इसलिए हमारा गोत्र वशिष्ठ है।

बैतूल जिले के पंवार मूलत: कृषक है। अब युवा पीढ़ी के लोग उद्योग धंधे में तथा नौकरियों में आ रहे है। शिक्षा के अभाव के कारण यहां के पंवार समाज के अधिकांश लोग आर्थिक दृष्टि से पिछड़े हुए है। इस समाज में पहले महिलाएं शिक्षित नहीं थी किंतु अब महिला तथा पुरूष दोनों ही उच्च शिक्षा प्राप्त कर उच्च पदों पर आसीन है। समाज के उच्च शिक्षित लोग सभी क्षेत्र में बड़े-बड़े महत्वपूर्ण पदों पर और विदेशों में भी समाज का गौरव बढ़ा रहे है। कृषक भी आधुनिक विकसित संसाधनों से उन्नत कृषि व्यवसाय में लगे हुए है।

बैतूल जिले के पंवारों के गांव की सूची

बैतूल क्षेत्र के गांव

1. बैतूल नगरीय क्षेत्र 2. बैतूलबाजार नगरीय क्षेत्र, 3. बडोरा 4. हमलापुर, 5. सोनाघाटी, 6. दनोरा, 7. भडूस, 8. परसोड़ा 9. ढोंडबाड़ा, डहरगांव, बाबर्ई, डोल, महदगांव, ऊंचागोहान, रातामाटी, खेड़ी सांवलीगढ़, सेलगांव, रोंढा, करजगांव, नयेगांव, सावंगा, कराड़ी, भोगीतेढ़ा, भवानीतेढ़ा, लोहारिया, सोहागपुर, बघोली, सापना, मलकापुर, बाजपुर, बुंडाला, खंडारा, बोड़ीबघवाड़, ठेसका, राठीपुर, खेड़ी भैंसदेही, शाहपुर, भौंरा, घोड़ाडोंगरी, पाथाखेड़ा, शोभापुर, सारणी क्षेत्र, भारत भारती, जामठी, बघडोना, झगडिय़ा, कड़ाई, मंडई, गजपुर, बाजपुर, पतरापुर, सांपना, खेड़लाकिला, चिखल्या (रोंढा), कोरट, मौड़ी, कनाला, बयावाड़ी

मुलताई क्षेत्र के गांव – मुलताई नगरीय क्षेत्र, थावर्या, कामथ, चंदोराखुर्द, करपा, परसठानी, देवरी, हरनया, मेलावाड़ी, बूकाखेड़ी, चौथिया, हरदौली, शेरगढ़, मालेगांव, कोल्हया, हथनापुर, सावंगा, डउआ, घाट बिरोली, बरखेड़, पिपरिया, डोब, सेमरिया, पांडरी सिलादेही, जाम, खेड़ी देवनाला, चिचंडा, निंबोरी चिल्हाटी, कुंडई, खंबारा, मल्हारा, कोंढर, जूनापानी, सेमझर, डहरगांव, चैनपुर, तुमड़ी, डोल, मल्हाराखापा, पिपरपानी, नीमदाना, व्हायानिडोरनी, छोटी अमरावती, छिंदखेड़ा, गाडरा, सोमगढ़, झिलपा, नंदबोही, दुनावा, दुनाई, गांगई, मूसाखापा, खल्ला, सोनेगांव, सिपावा, भैंसादंड, मलोलखापा, बालखापा, घाट पिपरिया, सरई, काठी, हरदौली, लालढाना, खामढाना, लीलाझर, बिसखान, मयावाड़ी, थारी, मुंडापार, चिखलीकला, कपासिया, लाखापुर, हिवरा, पारबिरोली, खैरवानी, सावंगी, लेंदागोंदी, मोरखा, तरूणाबुजुर्ग, डुडरिया, पिडरई, जौलखेड़ा, मोही, हेटीखापा, परमंडल, नगरकोट, दिवट्या, बुंडाला, हेटी, खतेड़ाकला, हरनाखेड़ी, अर्रा, बरई, जामुनझिरी, टेमझिरा, बाड़ेगांव, केकड्या, ऐनस, निर्गुण, सेमझिरा, पोहर, सांईखेड़ा, बोथया, ब्राम्हणवाड़ा, खेड़लीबाजार, बोरगांव, बाबरबोह, महतपुर, माथनी, छिंदी, खड़कवार, केहलपुर, तरोड़ा, सोड्ंया, रिधोरा, सोनोरी, सेमरया, जूनावानी, चिचंडा, हुमनपेट, बानूर, खेड़ी बुजुर्ग, उभारिया, खापा, नयेगांव, ससुंद्रा, पंखा, अंधारिया,

आमला नगरीय क्षेत्र – जंबाड़ा, बोडख़ी, नरेरा, छिपन्या, पिपरिया, महोली, उमरिया, सोनेगांव, बोरदेही, चिचोली, भैंसदेही, गुबरैल, डोलढाना आदि।

बैतूल जिले के वर्तमान में पंवारों के भिन्न-भिन्न सरनेम, उपनाम जिसे आज ये लोग गोत्र कहते है।

परिहार या पराड़कर, पठाड़े, बारंगे, बारंगा, बुआड़े, देशमुख, खपरिए, पिंजारे, गिरहारे, चौधरी, चिकाने, माटे, ढोंडी, गाडरी, कसारे, कसाई, कसलिकर, सरोदे, ढोले, ढोल्या, बिरगड़े, उकड़ले, रोलक्या, किरणकार, किनकर, किरंजकार, घाघरे, रबड़े, रबड्या, भोभाट, दुखी, बारबुहारे, मुनी, बरखेड्या, बागवान, देवासे, देवास्या, फरकाड्या, फरकाड़े, नाडि़तोड़, भादे, भाद्या, कड़वे, कड़वा, रमधम, राऊत, रावत, करदात्या, करदाते, हजारे, हजारी, गाड़क्या, गाकरे, खरफुस्या, खौसी, खवसे, कौशिक, पाठेकर, पाठा, मानमोड्या, मानमोड़े, हिंगवे, हिंगवा, डालू, ढालू, डहारे, डोंगरदिए, डोंगरे, डिगरसे, ओमकार, उकार, टोपल्या, टोपले, गोंदर्या, धोट्या, धोटे, ठावरी, ठूसी, लबाड़, ढूंढाड्या, ढोबारे, गोर्या, गोरे, काटोले, काटवाले, आगरे, डोबले, कोलया, हरने, ढंडारे, ढबरे, तागड़ी, सेंड्या, खसखुसे, गढढे, वाद्यमारे, सबाई।

सिवनी, बालाघाट, गोंदिया, महाराष्ट्र एवं छत्तीसगढ़ में प्रचलित सरनेम – अम्बूल्या, आमूले, कटरे, कटरा, कोलहया, गौतम, चौहान, चौधरी, चैतवार, ठाकुर, टेम्भरे, टेम्भरया, डाला, तुरूस, तुरकर, पटले, पटलया, परिहार, पारधी, कुंड, फरीद, बघेला, बिसन, बिसेन, बोपच्या, बोपचे, भगत, भैरव, भैरम, भोयर, ऐड़ा, रंजाहार, रंजहास, रंदीपा, रहमत, राणा, राना, राउत, राहंगडाले, रिमहाईस, शरणागत, सहारत, सहारे, सोनवान्या, सोनवाने, हनवत, हिरणखेड्या, छिरसागर।

पंवारों का मूल गौत्र तो वशिष्ठ ही है ऊपर दिए गए सभी सरनेम या उपनाम है।

उपरोक्त जानकारी प्रकाशन दिनांक तक प्राप्त ग्रामों के नाम तथा सरनेम इस लेख में दिए गए है।

6
सामाजिक कार्यक्रमो मे मातृशक्ति की बढ़ती सहभागिता समाज के लिए गौरव एवं सम्मान की बात है पवार समाज के विभिन्न संगठनो द्वारा आयोजित सम्मेलन तथा आयोजित आयोजनो मे वर्ष प्रतिवर्ष माताओ बहनो का बड़ी संख्या मे आगमन व आयोजनो को और बेहतर बनाने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ज रही है जो समूचे समाज के लिए हर्ष और गौरव का विषय है… मातृशक्ति को प्रणाम🙏🙏🙏
 

www.bhojvyapaar.com-min

एक कदम एक प्रयास समृद्ध बनाये समाज : पवार समाज के समस्त व्यापारी बंधुओ के लिए एक हमारे पूज्य राजा भोज के नाम के साथ समाज के लिए सेंट्रलाइज्ड ऑनलाइन सिस्टम – बिज़नेस डायरेक्टरी (www.bhojvyapaar.com) का निर्माण किया गया है जिससे समाज के समस्त व्यापारी गण अपने बिज़नेस की समस्त जानकारी ऑनलाइन कर सकते है और सभी सामाजिक व्यक्ति इसका लाभ ले सकते है !

समृद्धि के पथ पर बढ़ते समाज में हमारे व्यापारी बंधुओ का विकास अन्य समाजो की तरह तेजी से नहीं हो पा रहा है न ही हम पवार समाज व्यापार के क्षेत्र में अपनी सुदृढ़ पहचान स्थापित कर पाए है.. कही न कही हमारी समाज का व्यापारी वर्ग आकार में विशालकाय होने के बावजूद भी पिछड़ा हुआ है और जिसे हम सब को मिलकर आगे बढ़ाना होगा उन्नत बनाना होगा.. क्योकि हम सभी के परिवारों से कोई न कोई तो अवश्य ही व्यापार से जुड़ा हुआ है .. तो हम सब को आगे आना होगा एक दूसरे का सहयोग करना होगा और समाज के व्याप्परी वर्ग को समृद्ध और विकासशील बनाना होगा !!

www.bhojvyapaar.com एक ऑनलाइन पोर्टल है जहा पवार समाज के विभिन्न क्षेत्रो में निवासरत व्यवसायी बंधू चाहे शहरी क्षेत्र हो या ग्रामीण क्षेत्र हो सभी अपनी व्यवसाय सम्बन्धी जानकारी चाहे वो कोई सेवा / वस्तु (product / service) हो क्षेत्रवार ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा सकते है और अपने बिज़नेस को ऑनलाइन अस्तित्व में ला सकते है.. जिससे उनके बिज़नेस को कोई भी व्यक्ति कही से भी जानकारी देखकर उनसे संपर्क कर सकता है और दी जाने सर्विस का उपयोग कर सकता है इस तरह व्यापारी वर्ग को अपने व्यापार को सुदृढ़ बनाने में सकारत्मक सहयोग और समृद्धि मिलेगी !

www.bhojvyapaar.com इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने के उपरांत आपको सम्बंधित व्यक्ति जो आपसे सर्विस लेना चाहे आपकी सर्विस और क्षेत्र के अनुसार ऑनलाइन अपने मोबाइल / लैपटॉप / कंप्यूटर के माध्यम से आसानी से किसी भी समय किसी भी क्षेत्र से ढूंढ सकता है और आपके दिए गए सम्पर्क जानकारी : मोबाइल/ फ़ोन / ईमेल/ व्हाट्सप्प के माध्यम से संपर्क कर सकता है ! इस प्रकार आपकी जानकारी और आपके बिज़नेस का दायरा किसी एक क्षेत्र में सिमित न रहकर बढ़ता जायेगा !

सभी सामाजिक व्यक्ति अपने समाज के व्यापारी वर्ग की कैसे सहायता कर सकते है : एक सामाजिक व्यक्ति होने के दायित्व के साथ हम सिर्फ इतना करे की जब भी हमें किसी भी प्रकार की service / product लेना हो तो एक बार जरूर देखे की अपने क्षेत्र में हमारा कोई व्यक्ति यह service / product का बिज़नेस कर रहा हो तो उससे जरूर संपर्क करे .. इसके लिए आपको सिर्फ अपने मोबाइल जो आमतौर हम सभी उपयोग करते है www .bhojvyapaar .com पर जाये ..

1 . अपनी सर्विस चुने

2 . अपने क्षेत्र चुने

3 . सर्च करे

और सम्बंधित व्यक्ति से service / product की जानकरी प्राप्त करले !!

समस्या : समाज के व्याप्परी वर्ग के लिए ऑनलाइन पोर्टल क्यों ???.. क्योंकि हमे अपने आसपास के अपने समाज के लोगो की ही पूरी सही जानकारी नहीं मिल पाती की कोईयन सा व्यक्ति किस प्रकार का व्यवसाय करता है .. या पता हो भी तो उनसे किसी कारणवश संपर्क नहीं हो पता है .. इस स्थिति में हम सभी न चाहते हुए भी किसी अनजान व्यक्ति से लेनदेन करते है और अपने किसी समाजिक व्यापारी भाई का नुक्सान करा देते है .. इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से सभी बिज़नेस करने वाले व्यक्ति की समस्त जानकारी क्षेत्रवार होगी जिससे सभी को लाभ होगा और आपसी सामजस्य समाज में लेनदेन और सहयोग की भावना को बल मिलगा !

हमारा उद्देश्य : समाज के विभिन्न क्षेत्रो के समाजिक व्यक्ति और समाज के व्यवसायी बंधुओ के आपसी लेनदेन बढे हम सब मिलकर प्रयास करे की समाज के बीच service / product लेने का प्रयास करे जिससे हमारे व्यापारी वर्ग भी सुदृढ़ हो उनका परिवार भी समृद्ध हो और समाज के बीच service / product लेने सामाजिक सरोकार भी बढ़े.. सबका विकास होगा तभी समृद्ध समाज होगा !

हमारे वर्तमान कार्यक्षेत्र और सेवाएं :

Areas : BHOPAL, MANDIDEEP,BUDHNI,HOSANGABAD,SARNI,BETUL,MULTAI,CHHINDWARA,NAGPUR,BALAGHAT,JABALPUR,INDORE etc..!

Services/product : किसी भी प्रकार की service / product / business को ऑनलाइन रजिस्टर्ड किया जा जायेगा ! (ex : Photographer, DJ, Tent, Catering, Repair Shop, Car service, Life insurance, Motor Insurance, Builders, Constructors, Tutor, School, College, Doctor- Clinik, Hospital, Shop, Carpenter, Electrician, Plumber, Cleaner, Driver, Helper, Mechanics, Medical shop, workers, Beauty Parlors, yoga, Brokers, Finance, Decorators, Lighting, Printing , sales and support etc..)

bhoj-vyapaar-min
Register and become BHOJ Vyapaari 😊

Please contact for Registration : Mahendra Digarse -8880842536 & Chandan Pawar – 8880842536

🙏Jai raja BHOJ🙏

sankalp-parv-min

सम्मानित बन्धुओं,
संकल्प पर्व में उपस्थित सभी सदस्यों का जिनका प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग मिला।
कोई काम किया तो उसका श्रेय, सभी को मिलना भी चाहिये, फ़र्क भी होना चाहिए।
आप सभी महानुभावो का योगदान रहा, हम आप सभी का क्ष.प.समाज भोपाल कि ओर से तहेदिल से आभारी हैं!
धन्यवाद!
जय राजा भोज

bhopal-invitation-min

bhoj-nimatran WhatsApp Image 2018-12-23 at 11.21.25 AM

रविवार दिनांक 06.01. 2019 संकल्प पर्व
पर्व की तैयारी लगभग पूर्ण….

-जिन सम्माननीय सदस्यों को निमंत्रण कार्ड प्राप्त नहीं हुआ है, कृपया क्षेत्र प्रतिनिधि से संपर्क करें।

-निमंत्रण कार्ड साथ में अवश्य लाएं और सामाजिक कैलेंडर निशुल्क प्राप्त करें।(जिसमें समस्त सामाजिक जानकारियों के साथ लग्न पत्रिका, बराग गुण इत्यादि सम्मिलित है)

-समय पर पहुंचकर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आनंद लें।

-यह सामाजिक कार्यक्रम आपका अपना है।

-बिना कार्ड प्रवेश निषेध है।

आपका अपना
कैलाश कौशिक
अध्यक्ष
क्षत्रीय पवार, समाज, भोपाल

क्षत्रिय पवार समाज के सभी विवाह योग्य युवक युवतियों के लिए महत्वपूर्ण जानकारी :Register Here

– क्ष.प.स.भोपाल के वार्षिक 06 जन.2019 के संकल्प पर्व हेतू मनोरंजन खेल व क्विज –
क्ष.प.समाज सांस्कृतिक सचिव, के नेतृत्व में में इस वर्ष संकल्प पर्व पर बच्चों के लिये मनोरंजन गेम भी किया जाना सुनिश्चित है।
आयु वर्ग – 06 -12 वर्ष तक
आयु वर्ग – 12 – 18 वर्ष तक
सभी बच्चे आमंत्रित हैं।
– नोट- निम्न सामान लाना हैं।-
6 To 11 (ग्रुप -A)
1/- 1 Ltr.-,4 no- मिनरल वाटर कि Empty बॉटल
2/- Inch tape स्टील वाला,-1no
3/-कपड़े रस्सी पर फिक्स करने वाले चिमटे,6-no
12 To 18 Years(ग्रुप-B)
1/- Smart phone box empty.-1no
(बॉक्स को कमर में बांधने कि व्यवस्था के साथ)
2/- Dice(लुड़ो डाइस)-2 no
3/- पुरानी CD,- 2no.
All group
Quiz
(सांस्कृतिक सचिव)

मनोरंजन खेल सयोंजक
बी.आर.बुवाड़े-9826544601
दिनेश डोंगरदिये-9826528787
इंजी. दिनेश पवार -9425601967
कार्यकारिणी क्ष.प.स. भोपाल

पुनर्विवाह

पुनर्विवाह : पवार समाज के ऐसे परिवारजन या व्यक्ति (युवक -युवतिया) जिनके जीवनसाथी की या तो मृत्यु हो चुकी है या फिर किसी और वजह से अपने जीवनसाथी से भिन्न एकल जीवन यापन करने पर विवश है…और अपने दायित्वों का निर्वाह हेतु जीवन में नयी शुरुवात करना चाहते है.. ऐसे समाजिक व्यक्तियों के जीवन सुधार हेतु एक सकारत्मक सामाजिक पहल  “पुनर्विवाह ” – पवार समाज के विभिन्न क्षेत्रो में निवासरत परिवारों में ऐसे भाई बहिन जो अपने जीवन की नयी शुरुवात करना चाहते है उन्हें पवारमट्रीमोनिअल एक सामूहिक मंच प्रदान करने का प्रयास करता है जिससे पुर्नविवाह समबन्धित सदस्य अपनी जानकारी हमें दे सकते है और हम ऐसे सभी सदस्यों जो विभिन्न क्षेत्रो से होंगे उन्हें अपना जीवनसाथी तलाशने में सहायक भूमिका अदा कर पुर्नविवाह समबन्धित सदस्यों की जानकारी साझा की जाएगी!! जिससे “पुर्नविवाह” में सहायता हो और किसी व्यक्ति के जीवन को नयी शुरुवात एवं समाज को  एक नया खुशहाल परिवार मिल सके…!!
पुनर्विवाह पर विशेष ध्यान – समाज को एक व्यक्ति के जीवन को सुधारने में पूर्णतः समर्थन और सहयोग करना चाहिए।

रजिस्ट्रेशन व् प्रक्रिया – अधिक जानकारी हेतु संपर्क करे : (महेंद्र डिगरसे :8880842536 / चन्दन पवार:8880686073 )

एक तरफ अपना समाज तरक्की कर रहा है एक नयी उचाईयों तक पहुंच रहा है अपने “राजा भोज के वंशज” होने पे बड़ा फक्र होता है लेकिन दूसरी और समाज के कुछ कड़वे सच भी है जिन्हे हम देखना नहीं चाहते | उनसे आँखें मिलाता हूँ तो परेशान हो जाता हूँ | वैसे हमारा सीधे लेना देना नहीं है  हम ही इस बारे में क्यों सोचें हमारी ज़िन्दगी तो ठीक ठाक चल रही है हमें क्या फर्क पड़ता है – लेकिन फर्क पड़ता है | हम भी तो इसी समाज का एक हिस्सा हूँ | हर बात के हमसे आपसे होकर ही तो गुजरती है … आज अगर राजा भोज ज़िंदा होते तो हम उन्हें क्या जवाब देते |||
समाज में विधवाओं की दशा आधुनिक काल में भी बड़ी शोचनीय है । अतः विधवा पुनर्विवाह की समस्या किसी न किसी रूप में अब भी उपस्थित है अपने समाज में जिसे मिलकर दूर करने का मिलकर प्रयास करना है |

#PawarMatrimonialhelps you to find right partner for #SecondMarriage 1

पुनर्विवाह इच्छुक समाज का व्यक्ति इस लिंक पर जा के अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करे : http://www.pawarmatrimonial.com/register/

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के उपरांत आपको आपकी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लॉगिन अवं प्रोफाइल डिटेल्स रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर हमारे द्वारा भेज दी जाएगी |

आपको पावरमैट्रीमोनिअल के व्हाट्सअप्पग्रूप में जोड़ लिया जाएगा जिसमे वैवाहिक जानकारी शेयर की जाती है |

Screenshot 2018-11-19 at 11.10.55 AM

18. 11.2018 को आयोजित वार्षिक आम सभा में आप सभी सम्मानीय सदस्यों व समाज बन्धुओं की सम्मानजनक भागीदारी हुई पुनः कैलाश कौशिक और टीम को आगे समाज सेवा का मौका दिया, समाज हित में सौपी गयी समस्त जिम्मेदारिओ को पूरा करने का प्रण लिया नव निर्वाचित सभी पदाधिकारियों को हार्दिक बधाई 💐💐

जय राजा भोज,
जय माँ वाग्देवी

क्षत्रिय पवार समाज, भोपाल
नवनिर्वाचित पदाधिकारी

👉लेखा परीक्षक:
श्री जगदीश प्रसादजी बुवाडे

👉अध्यक्ष :
कैलाश कौशिक

👉सचिव:
श्री पंजाबरावजी बारंगे

👉कोषाध्यक्ष:
श्री भैयालालजी चौधरी

👉 उपाध्यक्ष :
श्री कन्हैयालालजी परिहार (सर्किल-1, जोन-1 एवं 2)

👉 उपसचिव:
श्री अशोकजी गाकरे

👉उपाध्यक्ष :
श्री गुलाबरावजी बुआडे
(सर्किल-2, जोन-3 एवं 4)

👉 उपसचिव:
श्री नारायणजी गिरहारे

👉 उपाध्यक्ष:
श्री सुंदरलालजी बुवाडेे
(सर्किल-3, जोन-5 एवं 6)

👉 उपसचिव:
श्री विजयजी कड़वे

👉 उपाध्यक्ष:
श्री प्यारेलालजी बारंगे
(सर्किल-4, जोन-7 एवं 8)

👉 उपसचिव:
श्री कैलाशजी ढोंडो

👉 सूचना संगठन मंत्री:
श्री अजयजी गाकरे
श्री भिवजीजी डोंगरदिये
श्री प्रदीपजी डहारे
श्री शिवदयालजी ढोबारे

👉 कार्यकारिणी संयोजक:
श्री हरिओमजी कोरडे
श्री भभूतरामजी बुवाडे

माँ वाग्देवी वाहिनी:

👉 अध्यक्ष:
डॉक्टर हेमलताजी डहारे

👉 सचिव:
श्रीमती विद्या बारंगे

👉 उपाध्यक्ष:
श्रीमती पुष्पाजी बुआडे

👉 सांस्कृतिक सचिव:
श्रीमती वंदनाजी बारंगे
गुलाब राव बुवाड़े, उपाध्यक्ष

1bhopal-pawar-samaj 2bhopal-pawar-samaj 3bhopal-pawar-samaj 4bhopal-pawar-samaj 5bhopal-pawar-samaj 6bhopal-pawar-samaj 8bhopal-pawar-samaj 9bhopal-pawar-samaj 10bhopal-pawar-samaj 11bhopal-pawar-samaj

screen_shot_2018_11__XvLHu

क्षत्रिय पवार समाज भोपाल द्वारा प्रतिवर्ष भोज ज्योति पत्रिका में भोपाल क सदस्यों की जानकारी ओफ़्फ़्लइन ली जाते आयी है | इस वर्ष से (2018) आप इससे ऑनलाइन भी जमा कर सकते है | ऑनलाइन में सयुक्त फोटो ( पति / पत्नी ) की आसानी से संलग्न की जा सकती है | कृपया परिवार के सदस्यों की जानकारी नीचे दिए गए फॉर्म में भर कर जमा करे |
सधन्यवाद

Kshatriya Pawar Samaj BHOPAL

#PawarMatrimonial

@Chandan_Pawar @Mahendra_Digarse

bhopal-samaj

सम्मानीय समस्त समाज बंधुओं, संकल्प प्रपत्र के संबंध में सूचना

👉समाज द्वारा नवनिर्मित कार्यालय का “लोकार्पण” व “आम सभा”

👉रविवार 18.11.18 दोप. 1 बजे

👉सामाजिक भूखण्ड, रायसेन रोड Bhopal

👉आगामी 7 जनवरी 2019 को सामाजिक संकल्प पर्व आपके साथ मनाने हेतू दृढ संकल्पित…..

👉समाज समर्पित हमारे क्षेत्रीय प्रतिनिधियों/कार्यकारिणी/पदाधिकारियों द्वारा इस वर्ष का संकल्प प्रपत्र आपको प्राप्त हुआ होगा। या आपके पास लेकर पहुचेंगे।

👉अगर किसी कारणवश नहीं पहुँच पाएँ, तत्पश्चात 👇संलग्नानुसार संकल्प प्रपत्र के अनुसार सामाजिक सहयोग कर संकल्प पर्व में सहयोगी बने।

👉निर्धारित तिथि तक प्राप्त जानकारी ही पत्रिका में प्रकाशित किया जायेगा।

👉आगामी 18/11/2018 को नई कार्यकारिणी का गठन आम सहमति से किया जाना है।

2bhopal-pawar-samaj

Google Map Location :

WE ARE AN ENTREPRENEUR OF "I-DIGIT SOFTWARE" OUR VISION IS TO HELP PAWAR MEMBERS TO FIND THEIR LIFE PARTNER...