Blog

Dainik Bhaskar – -तो हम क्षमाप्रार्थी है ..

rajabhoj

🔴क्या सिर्फ माफीनामे से आप संतुष्ट है

दैनिक भास्कर द्वारा कल के अखबार में हमारे पूज्यनीय आराध्यदेव राजाभोज की प्रतिमा में दर्शाई गई तस्वीर का प्रदेश व अन्य प्रदेशों के संगठनों के प्रमुखों के साथ सामाजिक बंधुओं द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। जिसका परिणाम आज के अख़बार मे उनके द्वारा क्षमानामी माँगी गई।

Screen Shot 2018-03-01 at 7.03.38 AM

rajabhoj

Share it on

3 Comments

  1. शीतल प्रसाद bopche / March 6, 2018

    *सामाजिक व राजनैतिक चिंतन पर पंवार समाज की बैठक सम्पन्न*
    *7 मार्च को सी एम को सौपेंगें ज्ञापन*
    *होली मिलन समारोह भी हुआ*
    पँवार राम मंदिर ट्रस्ट बैहर द्वारा आयोजित सामाजिक और राजनैतिक चिंतन के साथ होली मिलन समारोह का आयोजन श्री गजेन्द्रसिंह बिसेन ग्राम गोवारी (बैहर) के निवास स्थान मे पँवार राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा संचालित सर्किल समितियां बिरसा, जत्ता, पोंडी,लिंगा, सरेखा,और पँवार नगर संगठन बैहर, के समस्त पदाधिकारी और स्वजातीय बन्धुओ की उपस्तिथी मे समारोह सम्पन हुआ । समारोह मे वरिष्ठ सामाजिक बन्धुओ के द्वारा समाज के संगठन को और समाज को एक सूत्र मे संगठित करने पर जोर देते हुए अपनी बाते कही गई।
    जिसमें ट्रस्ट के उपाध्यक्ष श्री शंकरलाल राहंगडाले , श्री गुलाबसिंह चौहान ट्रस्ट सदस्य, श्री यशवन्त शरणागत आदि समाज के वरिष्ट जनो ने सम्बोधित किया।
    पँवार राम मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष माननीय उमेश देशमुख ने अपने संबोधन में कहा कि समाज एकजुट होकर अभी तक राजनैतिक दलों के जनप्रतिनिधियों के द्वारा जो हमारी समाज की, तथा पिछड़े वर्ग कि उपेक्षा के साथ बैहर क्षेत्र मे कई तरह की आर्थिक, सामाजिक,एवं राजनैतिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिसे समय रहते हमे अपने अधिकारों को लड़कर लेना होगा । साथ विगत दिवस दैनिक अखबार में दैनिक भास्कर (भोपाल ) में राजा भोज को अपमानित करने वाले विज्ञापन को लेकर उपस्थित समाज जनों ने कड़ी भर्त्सना करते हुए उक्त अखबार से माफी मांगने हेतु सी एम को ज्ञापन दिया जायेगा।
    7 मार्च 2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी म. प्र.शासन के बालाघाट प्रवास पर समस्त स्वजातीय बन्धुओ के साथ अपनी मांगों का ज्ञापन माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को सौपेंगे। जिसमे उपेक्षित समाज के स्वाभिमान की रक्षा हेतु एवं पिछड़े वर्ग के अधिकारों की मांग की बातों पर ध्यान आकृष्ट करवाया जायेगा। आने वाले विधान सभा के चुनावी एजेंडा में हमारी माँगो को लेकर नही सोचा गया तो अन्य विकल्प नोटा को या पँवार समाज पिछड़ा वर्ग के द्वारा अधिकृत प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतारने पर विचार कर सकता हैं। समारोह में ट्रस्ट के सहसचिव डॉ.बी.एल. पटले ने 25 मार्च 2018 को श्रीराम जन्मोत्सव एवं राम नवमी पर्व की तैयारियों को लेकर तथा कार्यक्रम के अतिथि चयन हेतु आवश्यक चर्चा बैठक में रखी।
    *इनकी रही उपस्थिति*
    समारोह मे श्री आर.एल. राणा (प्राचार्य) जी.एल.गौतम (अधिवक्ता) शंकरलाल राहंगडाले ,रामनाथसिंह ठाकुर,खिलेंद्र यदुनंदनसिंह टेम्भरे निरपतसिंह चौधरी, मोहपतसिंह ठाकुर, जुगलकिशोर ठाकुर , गुलाबसिंह चौहान, भद्रिप्रसाद चौहान सचिव, कुलदीप कटरे , रमेश एड़े, पुष्करसिंह तुरकर, आर.के.चौहान (अधि.) टी. म्आर. बघेले (अधि.) नीलकंठ हरिनखेड़े, सुरेंद्र राहंगडाले, नुपराम राहंगडाले, धरमलाल बिसेन, ओमकार राहंगडाले, ओमकार चौधरी,नन्दलाल पटले, ब्रजलाल चौधरी, लोकेशचौभिलाल राहंगडाले, रामेश्वर कटरे, मेहतराम चौहान,रामभरोस बघेले, पमीर पटले, भागचंद पटले, चंद्रपाल राहंगडाले, दिनेश बोपचे, प्रह्लाद पटले अध्यक्ष राजा भोज स्मा. समिति, टोपराम राहंगडाले अध्यक्ष जत्ता, देवसिंह बिसेन अध्यक्ष बिरसा, तुलसीराम बघेले सचिव लिंगा, शंकरलाल टेम्भरे सचिव बिरसा, शंकरलाल बोपचे सचिव जत्ता, छैयालाल पटले सचिव पोंडी, चेतन पटले, हरिनारायण राहंगडाले, हरलाल कटरे, छतरपाल पटले, दिलराज कटरे, मनोज बिसेन, आदि सैकडों की उपस्तिथी में समाज के वरिष्ठ एवं युवा शक्ति की मौजूदगी समाजहित में रही।

  2. शीतल प्रसाद bopche / March 6, 2018

    *सामाजिक व राजनैतिक चिंतन पर पंवार समाज की बैठक सम्पन्न*
    *7 मार्च को सी एम को सौपेंगें ज्ञापन*
    *होली मिलन समारोह भी हुआ*
    पँवार राम मंदिर ट्रस्ट बैहर द्वारा आयोजित सामाजिक और राजनैतिक चिंतन के साथ होली मिलन समारोह का आयोजन श्री गजेन्द्रसिंह बिसेन ग्राम गोवारी (बैहर) के निवास स्थान मे पँवार राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा संचालित सर्किल समितियां बिरसा, जत्ता, पोंडी,लिंगा, सरेखा,और पँवार नगर संगठन बैहर, के समस्त पदाधिकारी और स्वजातीय बन्धुओ की उपस्तिथी मे समारोह सम्पन हुआ । समारोह मे वरिष्ठ सामाजिक बन्धुओ के द्वारा समाज के संगठन को और समाज को एक सूत्र मे संगठित करने पर जोर देते हुए अपनी बाते कही गई।
    जिसमें ट्रस्ट के उपाध्यक्ष श्री शंकरलाल राहंगडाले , श्री गुलाबसिंह चौहान ट्रस्ट सदस्य, श्री यशवन्त शरणागत आदि समाज के वरिष्ट जनो ने सम्बोधित किया।
    पँवार राम मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष माननीय उमेश देशमुख ने अपने संबोधन में कहा कि समाज एकजुट होकर अभी तक राजनैतिक दलों के जनप्रतिनिधियों के द्वारा जो हमारी समाज की, तथा पिछड़े वर्ग कि उपेक्षा के साथ बैहर क्षेत्र मे कई तरह की आर्थिक, सामाजिक,एवं राजनैतिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिसे समय रहते हमे अपने अधिकारों को लड़कर लेना होगा । साथ विगत दिवस दैनिक अखबार में दैनिक भास्कर (भोपाल ) में राजा भोज को अपमानित करने वाले विज्ञापन को लेकर उपस्थित समाज जनों ने कड़ी भर्त्सना करते हुए उक्त अखबार से माफी मांगने हेतु सी एम को ज्ञापन दिया जायेगा।
    7 मार्च 2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी म. प्र.शासन के बालाघाट प्रवास पर समस्त स्वजातीय बन्धुओ के साथ अपनी मांगों का ज्ञापन माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को सौपेंगे। जिसमे उपेक्षित समाज के स्वाभिमान की रक्षा हेतु एवं पिछड़े वर्ग के अधिकारों की मांग की बातों पर ध्यान आकृष्ट करवाया जायेगा। आने वाले विधान सभा के चुनावी एजेंडा में हमारी माँगो को लेकर नही सोचा गया तो अन्य विकल्प नोटा को या पँवार समाज पिछड़ा वर्ग के द्वारा अधिकृत प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतारने पर विचार कर सकता हैं। समारोह में ट्रस्ट के सहसचिव डॉ.बी.एल. पटले ने 25 मार्च 2018 को श्रीराम जन्मोत्सव एवं राम नवमी पर्व की तैयारियों को लेकर तथा कार्यक्रम के अतिथि चयन हेतु आवश्यक चर्चा बैठक में रखी।
    *इनकी रही उपस्थिति*
    समारोह मे श्री आर.एल. राणा (प्राचार्य) जी.एल.गौतम (अधिवक्ता) शंकरलाल राहंगडाले ,रामनाथसिंह ठाकुर,खिलेंद्र यदुनंदनसिंह टेम्भरे निरपतसिंह चौधरी, मोहपतसिंह ठाकुर, जुगलकिशोर ठाकुर , गुलाबसिंह चौहान, भद्रिप्रसाद चौहान सचिव, कुलदीप कटरे , रमेश एड़े, पुष्करसिंह तुरकर, आर.के.चौहान (अधि.) टी. म्आर. बघेले (अधि.) नीलकंठ हरिनखेड़े, सुरेंद्र राहंगडाले, नुपराम राहंगडाले, धरमलाल बिसेन, ओमकार राहंगडाले, ओमकार चौधरी,नन्दलाल पटले, ब्रजलाल चौधरी, लोकेशचौभिलाल राहंगडाले, रामेश्वर कटरे, मेहतराम चौहान,रामभरोस बघेले, पमीर पटले, भागचंद पटले, चंद्रपाल राहंगडाले, दिनेश बोपचे, प्रह्लाद पटले अध्यक्ष राजा भोज स्मा. समिति, टोपराम राहंगडाले अध्यक्ष जत्ता, देवसिंह बिसेन अध्यक्ष बिरसा, तुलसीराम बघेले सचिव लिंगा, शंकरलाल टेम्भरे सचिव बिरसा, शंकरलाल बोपचे सचिव जत्ता, छैयालाल पटले सचिव पोंडी, चेतन पटले, हरिनारायण राहंगडाले, हरलाल कटरे, छतरपाल पटले, दिलराज कटरे, मनोज बिसेन, आदि सैकडों की उपस्तिथी में समाज के वरिष्ठ एवं युवा शक्ति की मौजूदगी समाजहित में रही।
    शीतल प्रसाद बोपचे
    प्रवक्ता व ट्रस्टी सदस्य
    क्षत्रिय पंवार राम मदिर ट्रस्ट बैहर

  3. शीतल प्रसाद बोपचे / March 6, 2018

    अखण्ड भारत वर्ष के स्वर्णिम काल सम्राट विक्रमादित्य से लेकर सम्राट राजभोज के ऐतिहासिक तथा वर्तमान काल में बैनगंगा घाटी व वर्धा घाटी में क्षत्रिय पंवार समाज की गौरवमयी ऐतिहासिक उपस्थिति रही है।
    वर्तमान समय में भी सकल पंवार समाज बालाघाट, सिवनी, छिंदवाड़ा, रायपुर, गोंदिया, नागपुर, वर्धा आदि जिलों में अपने देशप्रेम से ओतप्रोत, स्वयं के बाहुबल से मेहनत करके व सम्मान के साथ जीवन यापन पर विश्वास करता है।
    सदा से ही अपने आपको राजा भोज के वंशज कहलाने पर गर्व करने वाला यह समाज संस्कृति, शिक्षा , ज्ञान-विज्ञान, कला-साहित्य, सामाजिक, राजनैतिक क्षेत्रों के साथ-साथ कृषि के क्षेत्र में प्रदेश व देश को स्वहित की तृष्णा लिए बैगर अपना सर्वस्व न्यौछावर करते हुए अमूल्य सहयोग प्रदान करते हुए आया है।
    वर्तमान समय में क्षत्रिय पंवार समाज विभिन्न क्षेत्रों शिक्षा, कला , राजनीतिक, खेल, साहित्य के अतिरिक्त नवाचार के कार्यक्रमों में जैसे देश प्रेम के वैचारिक सन्देशों के माध्यम से राष्ट्र निर्माण में, कृषि उत्पादन में अग्रणी भूमिका का निर्वहन कर देश के विकास में, सामाजिक कुरूतियों (दहेज प्रथा पर प्रतिबन्ध, कन्या भूर्ण हत्या पर प्रतिबन्ध, बालिकाओं को उच्च शिक्षा ) आदि को समाप्त कर पुरुष प्रधान समाज में नारी जाती को सम्मान दिलाने का कार्य समाज निर्बाध गति से कर रहा हैं।
    इसी प्रकार राजनीतिक क्षेत्र में भी देश की आजादी से लेकर अभी तक विधानसभा व संसद में श्रेष्ठ नेतृत्व भेजने में महती भूमिका निभाता रहा है।
    परन्तु विगत कुछ वर्षों से आकलन करने पर यह दृष्टिगोचर हो रहा है कि स्थानिय स्तर पर पंवार समाज को उचित प्रतिनिधित्व नही मिल पा रहा है। सामाजिक स्तर पर भी पंवार समाज के योग्य व कर्मठ प्रतिनिधियों को मानसिक व सामाजिक स्तर पर हीन भावना से देखा जाता है व समय मिलने पर उन्हें खुले मंचों पर अपमानित करने की हर सम्भव कोशिश भी की जाती रही है। विभिन्न स्तरों पर हर क्षेत्र (सामाजिक व राजनैतिक) में समाज की घोर उपेक्षा की जा रही है। अनुसूची ….. लागू हो जाने से बैहर विधासभा क्षेत्र आदिवासी आरक्षित हो गया है। जबकी संख्या बल की दृष्टि से भी देखा जाए तो यह पंवार समाज के साथ धोखा ही कहा जायेगा।
    अनुसूची…… में रखने से बैहर क्षेत्र में दुरबुधियों का एक क्षत्र राज्य हो गया है और क्षेत्र का विकास अवरुद्ध सा हो गया है। शासन की कल्याणकारी नीतियों पर विराम लग चुका है। आम जनता मुख्य धारा से कटने पर मजबूर हो गई है। जिसके दुष्परिणाम सामने आते रहते हैं।
    उसके बावजूद भी समाज द्वारा राष्ट्रीय पार्टियो के हितों को ध्यान में रखकर पार्टियों के उम्मीदवारों को अपने मतदान के द्वारा सहयोग किया जाता रहा है।
    विगत दिनों पंवार समाज के देवतुल्य आराध्य राजा भोज का एक दैनिक अखबार में खुले तौर पर अमर्यादित रूप से अपमान किया गया जिससे प्रबुद्ध समाज की धार्मिक व सामाजिक भावनाएं आहत हुई हैं। जिसका समाज द्वारा पुरजोर विरोध व देश भर में दोषियों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव व सरकार को ज्ञापन सौंपे जा रहै हैं किन्तु इन कतिपय नेताओं द्वारा न कही विरोध किया जा रहा है और न ही मानवता का परिचय देते हुए पंवार समाज के पदाधिकारियों को इस विरोध में साथ देने की बात कही जा रही है।
    ऐसे संवेदनहीन , निर्लज ह्रदया नेताओं को जिन्हें पंवार समाज ने क्षेत्र के हितो की रक्षा हेतु सिंहासन सौपा था अब जंगलों की खाख छानने के लिए बीड़ा उठा लिया है।
    *उपेक्षा व तिरष्कार का दंश झेल रहे पंवार समाज ने आगामी विधानसभा में प्रमुख राजनीतिक दलों को सबक सिखाने के लिए कमर कसने की पुरजोर तैयारी कर ली है। और यदि वर्तमान में भी नाराज हुए समाज के लोगों की समस्याओं की ओर समुचित ध्यान नही दिया गया तो इसका खामियाजा राजनैतिक दलों को विधानसभा की सीट से हाथ धोकर भुगतना होगा।*
    *समय रहते शासन ने बैहर क्षेत्र में पंवार समाज को उचित प्रतिनिधित्व नही दिया तो क्षेत्र गर्त में जाने से कोई नही रोक सकता।*
    शीतल प्रसाद बोपचे
    प्रवक्ता व ट्रस्टी सदस्य
    क्षत्रिय पंवार राम मंदिर ट्रस्ट बैहर

Leave a Comment

WE ARE AN ENTREPRENEUR OF "I-DIGIT SOFTWARE" OUR VISION IS TO HELP PAWAR MEMBERS TO FIND THEIR LIFE PARTNER...