Blog

संगठन के पदाधिकारियों को नहीं होनी चाहिए, हर जगह मान सम्मान की अपेक्षा…

भृर्तहरि विक्रम भोज पुरस्कार

संगठन के  पदाधिकारियों को
नहीं होनी चाहिए, हर जगह मान सम्मान की अपेक्षा ।
————————————–
विशेष सामाजिक  आयोजनों में
समाज की प्रतिभाओं को मिले महत्व——– उन्ही का हो अनुसरण
*******
सामाजिक सोच का   नया दायरा   विकसित  करें हर संगठन।
अब जरूरत शिक्षा,व्यवसाय व  उन्नत कृषि ,  में अग्रणी होने की।
**********

रविवार को छिंदवाड़ा में आयोजित राष्ट्रीय भर्तहरि विक्रम भोज पुरस्कार समारोह ,में प्रतिभाओ को सम्मानित करने के
राष्ट्रीय सामाजिक मंच से कई संदेश समाज को मिले।

मुख्य अतिथि डॉ पी के बिसेन
द्वारा अपने उद्बोधन में
पवारों को शिक्षा, व्यवसाय कृषि व राजनीति में अग्रणी होने की बात कही बशर्ते संगठन इस दिशा में सोचे।

संगठनों के पदाधिकारियों को
सेवा हेतु
बिना मान सम्मान की लालसा,फूल हार, स्वागत, की परंपरा को तोड़ सादगी पूर्ण आयोजन को बढ़ावा  देना चाहिए।

इस आयोजन में भी सिर्फ  बैच लगाकर अतिथियों का स्वागत किया गया।

आयोजको को तो निःस्वार्थ भाव से ही कार्य करना चाहिए न कि
किसी अपेक्षा,के
समाजसेवा हेतु उन्होंने
समय,
सोच,
समर्पण
,संसाधन व
स्वास्थ्य।
के पांच स  को जरूरी बताया।
राष्ट्रीय आयोजन की  गरिमानुरूप
इस आयोजन में भी सिर्फ आमंत्रित अतिथियों को ही मंच दिया गया।
बाकी पूरे जिले से समाजबंधु व अन्य जिलों से पधारे संगठन पदाधिकारी आदर्श श्रोताओं के रूप में नजर आए।
जो इस कर्यक्रम की गरिमा के अनुकूल था।
ऐसे सादगीपूर्ण आयोजन के लिए कुलपति महोदय ने आयोजको को  निरन्तर  ऐसे ही आयोजन करने का संदेश दिया।
आगे
उन्होंने कहा कि समाज अब
मंगल भवनों के बजाय होस्टल बनाये,  युवाओं को upsc psc की तैयारी कराए व अधिकारी बनाये, न कि नेतागिरी सिखाये।

प्रतिभा मंच पर अतिथियों के रूप में सामाजिक प्रतिभाओं को ही होना  चाहिए नेताओं को नहीं ।

उन्होंने स्पष्ट कहा कि
प्रतिभाओ को देख प्रतिभा बनने की प्रेरणा मिलेगी
व नेताओं को देख नेता बनने की
इसलिए बच्चो को प्रतिभाओ के सानिध्य में रखे।

समाज के अंदर प्रतिभाओं की खान है,जरूरत अब उन्हें

ऐसे प्रासंगिक मंच की है जो प्रतिभा रूपी हीरे मोतियों को खोदकर निकाल सके।

जिला व ब्लाक स्तरीय संगठनों की सीमा से परे यह कार्य राष्ट्रीय भर्तहरि विक्रम भोज पुरस्कार समिति द्वारा किये जाने व समय समय पर कार्यक्रम आयोजन में समिति को मिल रहे
मेजबान रूपी जिला व ब्लॉक संगठनों के द्वारा किये जा रहे इस कार्य की उन्होंने तारीफ की।

द्वितीय प्रतिभा पर्व में प्रतिभाओं की खोज, पुरस्कार हेतु चयन व सम्पूर्ण संचालन व पुरस्कार ,मेडल प्रशस्ति पत्र सम्मान राशि  की व्यवस्था राष्ट्रीय समिति द्वारा व
आयोजन व्यवस्था जिला संगठन छिंदवाड़ा द्वारा की गई,इस कार्य हेतु 30 से ज्यादा लोगों  द्वारा स्वैच्छिक
आर्थिक सहयोग प्रदान किया गया।। जिला संगठन द्वारा कार्यकारी सहयोग व प्रचार प्रसार सम्बन्धी कार्यों के साथ ही समाज भवन
राष्ट्रीय समिति को समाज सेवा के उद्देश्य से निःशुल्क उपलब्ध कराया गया

👉 संगठन पदाधिकारियों को अब जरूरत स्वयं के मान सम्मान की परवाह किये बगैर सकल समाज के मान सम्मान को बढ़ाने वाली प्रतिभाओं  को उचित मार्गदर्शन देकर पोषित करने की है,न कि स्वयं फूल हार की अपेक्षा कर मंचो पर आसीन होने की आशा रखने की।

जागो 52 लाख पवार

जय राजा भोज

Share it on

One Comment

  1. Nandlal Barange / February 4, 2020

    संगठन के सभी पदाधिकारी समाज सेवा के लिए निकले हैं खुद के मान सम्मान के लिए नहीं आशा है सभी संगठन के कार्यक्रमों में आम और सभी को सम्मान दें ।
    सब की खुशी में अपनी खुशी को तलाशें। जय हो

Leave a Comment

WE ARE AN ENTREPRENEUR OF "I-DIGIT SOFTWARE" OUR VISION IS TO HELP PAWAR MEMBERS TO FIND THEIR LIFE PARTNER...